Follow by Email

गुरुवार, 13 अगस्त 2015

भोपाल में वल्र्ड फोटोग्राफी डे पर चित्र प्रदर्शनी 18 से




भोपाल। हम रोज अखबार में किसी न किसी फोटो को देख खबर की वास्तविकता का अंदाजा लगाते हैं, लेकिन उस फोटो को खींचने के लिए एक फोटोग्राफर को कितनी मशक्कत करने पड़ती है। हर फोटो के पीछे क्या कहानी होती है। यह सिर्फ फोटोग्राफर ही जानता है। यह बात अप्सरा रेस्टोरेंट में हुई एक पत्रकार वार्ता में मप्र फोटो जर्नलिस्ट वेलफेयर एसोसिएशन के अध्यक्ष पृथ्वीराज सिंह ने कही।

वल्र्ड फोटोग्राफी डे पर एग्जीबिशन का आयोजन
वहीं इस अवसर पर उन्होंने बताया कि 18 और 19 अगस्त को वल्र्ड फोटोग्राफी डे के अवसर पर एक प्रदर्शनी का आयोजन मप्र फोटोजर्नलिस्ट वेलफेयर समिति द्वारा आंचलिक विज्ञान केन्द्र में किया जा रहा है। इस प्रदर्शनी में भोपाल के अखबारों में काम करने वाले फोटो जर्नलिस्ट अपनी कुछ चुनिंदा फोटो को प्रदर्शित कर सकते हैं। इस एग्जीबिशन में भाग लेने वाले फोटो जर्नलिस्ट को प्रदर्शनी के समापन अवसर पर सम्मानित किया जाएगा। वहीं पत्रकारिता में विशेष योगदान के लिए 10 फोटोग्राफर और 5 वीडियोग्राफर को फोटो रत्न अवार्ड से भी सम्मानित किया जाएगा। इस मौके पर सभी को शाल, श्रीफल और मोमेंटो देकर सम्मानित किया जाएगा।

फोटोग्राफर करता है समाज को जागरुक
वहीं संस्था के सचिव शमीम खान ने बताया कि इस आयोजन का उद्देश्य राजधानी वासियों को फोटो पत्रकारों की वास्तविकता से परिचित कराना है। वहीं संयोजक विवेक पटेरिया ने बताया कि यह आयोजन फोटोग्राफर को उनके पेशे के प्रति जागरुक कराने के लिए है, ताकि  वे यह जान सकें कि उनके द्वारा किए गए कार्यों के कारण ही समाज में जागरुकता फैलती है। इस अवसर पर शिवनारायण मीना, अशरफ अली, रविन्द्र सिंह, भूपेन्द्र सिंह, अमित भारद्वाज, तबरेज खान, ताजनूर खान,  और आशीष श्रीवास्तव सभी प्रमुख समाचार पत्रों के फोटोग्राफर उपस्थित थे।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें